510-L, Model Town Ludhiana – 141002 (India)

गुर्दे की पथरी के दोबारा उत्पन्न होने के क्या है कारण व उपचार के तरीके ?

Home  »  HindiKidney Stones   »   गुर्दे की पथरी के दोबारा उत्पन्न होने के क्या है कारण व उपचार के तरीके ?
Categories
Hindi Kidney Stones

गुर्दे में पथरी का होना मतलब व्यक्ति के अंदर दर्द की समस्या का हमेशा से बने रहना। वही गुर्दे की पथरी का एक बार इलाज करने के बाद यदि वो दोबारा उत्पन्न हो जाए तो हमे क्या करना चाहिए। इसके अलावा गुर्दे की पथरी से कैसे हम खुद का बचाव कर सकते है इसके बारे में आज के आर्टिकल में बात करेंगे। वही पुनः उत्पन्न गुर्दे की पथरी का सामना अगर आप भी कर रहें है तो आज का आर्टिकल आपके लिए काफी उपयोगी साबित होगा ;

गुर्दे की पथरी दोबारा किन कारणों से उत्पन्न होती है ?

  • एक रिसर्च में ये बात सामने आई है की जिन लोगों को गुर्दे की पथरी हुई है उनमें से आधे लोगों को अगले 5 वर्षों के भीतर फिर से पथरी का अनुभव होगा।
  • वही शरीर में गुर्दे की पथरी का दोबारा से आने का मुख्य कारण ही पानी की कमी है, क्युकी हम में से ऐसे बहुत से लोग है जो समस्या ख़त्म होने पर उपचार को जारी नहीं रखते। 

अगर आपमें भी गुर्दे की पथरी काफी सालों के बाद उत्पन्न हुई है तो इससे बचाव के लिए आपको पंजाब में गुर्दे की पथरी विशेषज्ञ के पास जाना चाहिए। 

गुर्दे की पथरी से हम कैसे खुद का बचाव कर सकते है ?

  • पहली बात तो आपको खूब पानी पीना चाहिए।  
  • नींबू के रस और जैतून के तेल का मिश्रण किडनी की पथरी को शरीर से बाहर निकालने में काफी मददगार है इसलिए इससे बचाव के लिए इन दोनों का सेवन जरूर करें। 
  • सेब का सिरका पिए। 
  • अपने खान-पीन की दिनचर्या में अनार के रस को भी शामिल करें ।  
  • कॉर्न सिल्क (मकई के दाने का सेवन) का सेवन करें। 

गुर्दे की पथरी का उपचार कैसे किया जाता है ?

  • गुर्दे की पथरी के उपचार की बात करें कॉर्न सिल्क (मकई), गुर्दे के पथरी के इलाज में फायदेमंद है क्युकी इसके सेवन से किडनी स्टोन ठीक होता है। इसके सेवन से यूरिन ज्यादा आता है और पथरी छोटे-छोटे कणों के द्वारा बाहर निकल जाती है।
  • इसके अलावा यदि व्यक्ति की पथरी सामान्य आकार से ज्यादा बड़ी है तो ऐसे में मरीज़ की सर्जरी की जाती है, ताकि पथरी को बाहर निकाला जा सके। पर ज्यादा पानी न पीने  की वजह से ये समस्या सर्जरी के बाद भी दोबारा उत्पन्न हो जाती है।
  • वही डॉक्टरों का कहना है की अगर पथरी सामान्य आकार की है तो इसे ज्यादा पानी पीकर ठीक किया जा सकता है।

इसके अलावा पथरी बड़ी है या छोटी के बारे में जानने के लिए आपको यूरोलॉजिस्ट लुधियाना के संपर्क में आना चाहिए। और आपकी पथरी के लिए कौन सा इलाज सही है के बारे में भी जानकारी जरूर लेनी चाहिए।

गुर्दे की पथरी के लिए बेस्ट हॉस्पिटल ?

  • यदि आपकी गुर्दे की पथरी सामान्य आकार से ज्यादा बड़ी है तो इससे निजात पाने के लिए आपको आरजी स्टोन यूरोलॉजी एन्ड लेप्रोस्कोपी हॉस्पिटल का चयन करना चाहिए। वही अगर आप अपनी बड़ी पथरी का इलाज करवाना चाहते है तो इस हॉस्पिटल का चयन जरूर करें।

निष्कर्ष :

जैसा की आपने उपरोक्त के लेख से जान ही लिया की गुर्दे की पथरी का इलाज करने के बाद वो दोबारा से फिर क्यों उत्पन्न होती है। इसके अलावा अगर आपके साथ भी ऐसा कुछ हो जाए तो इससे बचाव के लिए आपको किसी अच्छे पथरी के डॉक्टर से जरूर मुलाकात करनी चाहिए।

Telephone Icon
whatsup-icon